Breaking

Thursday, 4 April 2019

अपने अंदर छिपे " ताकत " को जाने!

    

अपने अंदर छिपे " ताकत " को जाने!

  " हम चाहे तो अपने आत्मविश्वास और मेहनत के बल पर अपना भाग्य खुद लिख सकते हैं और अगर हमको अपना भाग्य लिखना नहीं आता तो परिस्थितियां हमारा भाग्य लिख देगी! "

किसी भूखे को रोटी खिलाना बहुत ही पुण्य का काम होता है, लेकिन उससे भी ज्यादा पुण्य का काम है उसे रोटी कमाने का तरीका सिखाना! अगर आप किसी को रोटी खिलाते हैं, तो उसका पेट एक दिन के लिए भरेगा, लेकिन अगर आप किसी को रोटी कमाने का तरीका सिखा देते हैं, तो वह जीवन भर अपना पेट भर सकता है!

हमारे अंदर कई तरह की शक्तियां छिपी होती है, जो हमें दिखाई नहीं देती है! इन शक्तियों को जगाने के लिए हमें अपने अंदर 'जिज्ञासा' रूपी अस्त्र को हर समय जागृत कर के रखने की आवश्यकता होती है क्योंकि इसी अस्त्र के माध्यम से हम अपने किसी भी लक्ष्य को पा सकते हैं!

  अगर देखा जाए तो इंसान की दुनिया क्यों, कैसे, क्या, कब और कहां जैसे सवालों से ही भरा पड़ा है! दरअसल किसी भी घटना के पीछे इन्हीं सवालों का जवाब होता है! इसके जवाब ढूंढने की प्रक्रिया को ही उत्सुकता का नाम दिया गया है! यही उत्सुकता हमारे लिए ज्ञान का रास्ता दिखाती है, जो आगे चलकर सफलता हासिल करने में सहायता करती है!


 अगर दुनिया के किसी भी कामयाब इंसान के बारे में बात करें, तो आमतौर पर एक बात जरूर निकल कर सामने आती है कि उसने कुछ अलग किया हो या ना किया हो, लेकिन हमारे आपके बीच दिखने वाली साधारण चीजों को ही दिखने वाली साधारण चीजों को ही कुछ इस तरीके से अंजाम दिया, जिससे उन्हें दांतो तले उंगलियां दबा लिया हो! उनकी कामयाबी के बाद हर एक के मुंह से यही निकलता है कि अरे हमने तो इस तरह से कभी सोचा ही नहीं था! दोस्तों यही है सोच का फर्क!




    भगवान ने सभी इंसान को एक जैसा बनाया है अपने कार्य और कर्मठता से कोई बहुत ऊंचाई पर पहुंच जाता है, तो कोई  किसी तरह जिंदगी गुजर -बसर करता है! जो इंसान खुद को लाचार समझ कर अपने समय को यूं ही व्यर्थ करता है, वह जीवन के मूल्य को कभी समझ नहीं पाता है तथा जो इस सच्चाई को अच्छी तरह से समझता है, कि उसे मनुष्य जीवन निरर्थक रूप से गंवाने के लिए नहीं मिला है, वह अपनी भीतर की शक्ति को जगा कर अपना 'आत्मविश्वास' बढ़ाता है तथा वह अपनी पसंद के क्षेत्र में खुद को मजबूत बनाकर एक के बाद एक नई मंजिल को छूता है!


    अगर आपके भीतर कोई कमजोरी है तो उसे तलाशें और जितनी जल्दी हो सके उससे छुटकारा पाने की कोशिश करें! हो सकता है कि कभी कोई चुनौती आपको बहुत भारी लगे, फिर भी हार ना माने! अपनी शक्तियों को जगाए तथा अपने भीतर यह जिद पैदा करें की 'जब कोई और ऐसा कर सकता है, तो मैं क्यों नहीं कर सकता'!

 जब जीतने की ज़िद होगी तब आप देखेंगे कि यह बेचैनी एक ना एक दिन आपको जीत के दरवाजे पर लाकर खड़ी कर देगी!
                                             
   (Best of Luck for the New Life )
                             ***

No comments:

Post a Comment

If You Have Any Doubts.