Breaking

Tuesday, 7 May 2019

आकर्षक-व्यक्तित्व ही आपकी पहचान है!

   

आकर्षक-व्यक्तित्व ही आपकी पहचान है!

" यदि आप कोशिश करते हो और कुछ भी हासिल नहीं होता तो उसमें आपकी कोई गलती नहीं है! लेकिन यदि आप जरा भी कोशिश नहीं करते और हार जाते हैं तो उसमें पूरी आपकी ही की गलती है! "

                 जब हम व्यक्तित्व को विकसित करने की बात करते हैं तो हमारे व्यवहार में कई सारी बातें जुड़ती हैं और हममें कई बदलाव आते हैं! जैसे कि हमारा आत्मविश्वास बढ़ जाता है, हमारी भाषा और शब्दों का चयन भी लोगों पर तुरंत असर डालते हैं! हम जानते हैं कि आकर्षक व्यक्तित्व से हर कोई प्रभावित होता है, आकर्षक-व्यक्तित्व वाले को सफलता भी जल्दी और आसानी से मिलती है!
           
अक्सर व्यक्तित्व का आकलन व्यक्ति के बाहरी पहलुओं से किया जाता है! सुंदर शरीर आकर्षक चेहरा और सही तरीके से पहने हुए परिधान वाले व्यक्ति को देखकर लोग उसके व्यक्तित्व को प्रभावशाली मान लेते हैं! किंतु यह भ्रम अधिक समय तक नहीं रहता है क्योंकि किसी का व्यक्तित्व मात्र सलीके से पहने कपड़ों व आकर्षक चेहरे से नहीं बनता है बल्कि व्यक्तित्व बनता है, व्यक्ति के 'आचार-विचार' की समझ, व्यावहारिक सोच, कार्य करने की तरीके और जीवन के प्रति अपने दृष्टिकोण से! 

इस प्रकार व्यक्ति के अनुवांशिक पहलुओं को भी नजर अंदाज नहीं किया जा सकता क्योंकि व्यक्तित्व को आकर्षक प्रदान करने में सामाजिक परिवेश और पारिवारिक संस्कारों का महत्वपूर्ण योगदान होता है!

        
हमारी पर्सनालिटी के कुछ पहलू ऐसे हो सकते हैं, जिसमें शायद बदलाव लाना जरा कठिन हो लेकिन व्यक्तित्व को मनचाही दिशा दे पाना संभव है! इसके लिए स्वयं को नियोजित करना होगा! जैसे कि:



* परिवर्तन जीवन की वास्तविकता है इसे स्वीकार करना चाहिए!

* स्वभाव में परिवर्तन के अपेक्षा अपने व्यवहार में परिवर्तन लाना चाहिए!


* हमेशा 'Negative' सोच की अपेक्षा 'Positive' सोच को स्थान दें!


* आप अपनी कमियों को पहचाने किसी के बताए जाने पर उसे स्वीकार करें या फिर उन्हें खुद पहचाने और उसे दूर करें!


* स्वभाव में सकारात्मकता लाए और मिलनसार बने तथा आलस्य से हमेशा दूर रहे!


* निर्णय से पहले दूसरों से परामर्श ले, हालांकि दूसरों पर निर्भर ना बने!


* चेहरे के हाव-भाव को परिस्थिति के अनुसार ही परिवर्तित करें!


* आकर्षक-व्यक्तित्व के लिए अपना मूल्यांकन अत्यंत जरूरी है क्योंकि प्रत्येक मनुष्य अपने व्यक्तित्व को दूसरों के लिए प्रेरणा का स्रोत बना सकता है!


* अपनी खूबियों की बजाए आप कमियों को देखें और उन्हें दूर करने के तरीके सोचे!



       अक्सर कहा जाता है कि ईश्वर की बनाई हर चीज सुंदर होती है और मनुष्य ईश्वर की नायाब कृति है, इस सुंदरता को हम मात्र ऐसे प्रयास से आकर्षक बना सकते हैं और स्वयं को आज की आवश्यकता के अनुसार ढाल सकते हैं! यदि जीवन में सफलता पाना है तो आप अपने व्यक्तित्व को आकर्षक बनाना अत्यंत आवश्यक है!
  
    ( Best of Luck for the new life.)
                        ***

No comments:

Post a Comment

If You Have Any Doubts.