Breaking

Friday, 21 June 2019

इससे पहले कि सपने सच हो, आपको सपने देखने होंगे!

इससे पहले कि सपने सच हो, आपको सपने देखने होंगे!

" सपने तभी पूरे होते हैं, जब सपनों को पूरा करने के लिए दिन- रात मेहनत की जाए, वरना सपने देखते- देखते ही जिंदगी गुजर जाती है और कोई भी सपना पूरा नहीं होता है! "

      प्रत्येक व्यक्ति सपना देखता है! यदि जीवन में कुछ करना है, तो सपने देखना भी आवश्यक है! जीवन में कई बार हम हर संभावित समस्या के बारे में सोचने में अपने मस्तिष्क का प्रयोग करते हैं! दरअसल, हमारा मस्तिष्क समस्याओं के बारे में सोचने के लिए नहीं बने हैं बल्कि उन्हें तो समाधान सोचने के लिए बनाया गया है! 

सपनों को हकीकत में बदलने के लिए यह आवश्यक है कि आप उन्हें व्यावहारिक लक्ष्यों मे ढालना सीखे! पहले तो आपको यह स्पष्ट होना चाहिए कि आप जीवन में क्या हासिल करना चाहते हैं! अपने निर्णयों को केवल यह सोचकर सीमित ना करें कि लक्ष्य प्राप्ति लिए आपको बहुत बलिदान करने पड़ सकते हैं या भारी कीमत चुकानी पड़ सकती है!

             
         वर्तमान की कठिनाइयों से घबराकर अपने आप को किसी तरह की सीमाओं में न बांधे! एक बार जब आपके पास सपने आ जाएं तो आपके लिए यह सीखना जरूरी हो जाता है कि उन्हें वास्तविकता में कैसे बदला जाए! सपने देखने के बाद आपको अपने सपनों के बारे में कुछ करना होगा तथा आपको अपने सपनों का पीछा करना होगा! आपको इससे बचने के बजाय इसकी ओर आगे बढ़ना ही होगा! 

अगर आपके पास सपने ऊंचे एवं बड़े है तो इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कैसे घर में पैदा हुए हैं या फिर कौन से स्कूल में पढ़े हैं! आपके द्वारा देखे गए सपने आने वाले भविष्य की दिशा तय करती हैं!

   
सपने सफलता के बीज होते हैं! जो अपने सपनों को सच करने के लिए आपको उनकी तरफ कदम बढ़ाना होगा तथा उन पर काम करना होगा! जिस सपने में आत्मविश्वास, संकल्प, लगन, प्रबल इच्छा शक्ति और कर्म हो वह असफल हो ही नहीं सकता!
      
जब सपनों के साथ आत्मविश्वास, लगन, और संकल्प हो, तो उसकी सफलता तय है! अगर आप उसे सचमुच साकार करना चाहते हैं तो आपको उस  सपनों के प्रति समर्पित होने और संघर्ष करने के लिए तैयार रहना चाहिए!


  
हर महत्वपूर्ण काम में चुनौतियां और बाधाएं होती ही है, यह कहा जाता है कि जीवन आपके सामने बधाई इसलिए खड़ी करती है क्योंकि वह यह देखना चाहती है कि आप कितनी शिद्दत से अपने सपने को चाहते हैं! परंतु, जब चुनौतियां आपके सामने आती है तो आपको यह याद रखना चाहिए कि आपके सामने हमेशा चुनाव होता है, जिससे आप उस चुनौती का सीधे तौर पर सामना कर सकते हैं या आप पीछे हट सकते हैं!

 चुनाव पूरी तरह से आपका है! आपका समर्पण ही उस कार्य के प्रति फर्क पैदा करता है! जिस क्षण आप स्वयं को प्रतिबद्ध कर लेते हैं, उसी क्षण से भाग्य भी आपकी मदद करने लगता है!
    
अगर आप अपने लक्ष्य तक पहुंचना चाहते हैं तो आपको अपना सब कुछ दांव पर लगाना होगा! आपको पूरी तरह अपने लक्ष्य पर निगाह रखना होगा तथा आपको ' बिना विकल्प का आदमी ' बनना होगा! बिना विकल्प के आदमी के पास कोई दूसरा विकल्प नहीं होता तथा उसे यह करना ही होगा 'करो या मरो!"
        
 जब आप इतने समर्पित हो जाते हैं तो आप इसे जरूर कर देंगे क्योंकि आपके पास कोई दूसरा विकल्प है ही नहीं!
                                     
  ( Best of Luck for the New life. )
                        @@@

No comments:

Post a Comment

If You Have Any Doubts.