Breaking

Wednesday, 17 July 2019

किस्मत के भरोसे ना बैठे, क्योंकि........

 किस्मत के भरोसे ना बैठे, क्योंकि........

" बहुत खुशकिस्मत होते हैं वह लोग जिन्हें 'समय' और 'समझ' एक साथ मिलती हैं क्योंकि अक्सर 'समय' पर 'समझ' नहीं आती और जब 'समझ' आती है तो 'समय' हाथ से निकल जाता है! "

      किसी भी लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए सही दिशा में सही अवसर को पहचानना आवश्यक होता है! यदि आपने समय पर इस अवसर को नहीं समझा तो फिर बाद में पछताने के सिवा और कुछ नहीं रह जाता! समय का महत्व समझते हुए उसका सही प्रबंधन करना आवश्यक होता है! समय किसी के लिए नहीं रुकता, इसके  साथ चलना ही आज की जरूरत है!
       
 ऐसे लोगों से आपकी मुलाकात अक्सर होती होगी, जो हमेशा किस्मत का रोना रोते रहते हैं और कभी भी किसी बात के लिए खुद को जिम्मेदार नहीं मानते चाहे वह किसी परीक्षा में असफल रहे हो या उन्हें नौकरी नहीं मिल रही हो, उनके हिसाब से इन सभी बातों के लिए परिस्थितियां ही जिम्मेदार है! 

उन्हें ऐसा नहीं लगता कि उनकी असफलता की वजह उनके प्रयासों की कमी भी हो सकती है! अपनी कमियों को स्वीकार ना कर सदैव परिस्थितियों को दोषी ठहराना अपरिपक्व दृष्टिकोण का परिचय देता है! ऐसी दृष्टिकोण रखने वालों के लिए जीवन में कुछ हासिल कर पाने के अवसर कम ही होते हैं!

       
सफल व्यक्तियों की एक प्रमुख विशेषता यह होती है कि वह वास्तविकता को स्वीकार करने से कभी कतराते नहीं हैं और अपनी कमियों को समझकर एवं उन्हें दूर करने के लिए निरंतर प्रयास करते रहते हैं!
      
 हम अपने जीवन को जिस रूप में ढालना चाहते हैं वह उसी रूप में ढल जाता है! समस्याएं जीवन का एक अभिन्न अंग होता है, किसी के जीवन में यह अधिक हो सकता है और किसी के जीवन में कम! इन समस्याओं की प्रकृति भी अलग-अलग होती है, लेकिन अधिकांश लोग समस्याओं को बढ़ा चढ़ाकर देखने की आदत होती हैं! जबकि वास्तव में समस्या इतनी गंभीर नहीं होती है जितनी की ऊपर से दिखाई देती है! 

जीवन में समय-समय पर आने वाली समस्याओं को तीन भागों में विभाजित किया जा सकता है! पहली तरह की समस्याएं वे होती हैं, जो सीधे हमारे व्यवहार से जुड़ी होती है! दूसरी वे समस्याएं होती हैं जो लोगों के व्यवहार से उत्पन्न होती हैं! 


पहली तरह की समस्याओं पर हमारा प्रत्यक्ष नियंत्रण होता है जबकि दूसरी तरह की समस्याओं पर अप्रत्यक्ष नियंत्रण होता है तथा तीसरी तरह की समस्या  वह होती है जो हमारे नियंत्रण में नहीं होती है! जैसे कि हमारा अतीत में घटी समस्याएं!



       
व्यवहारिक एवं जिम्मेदारी पूर्ण दृष्टिकोण अपना कर अधिकांश समस्याओं के हल निकाले जा सकते हैं! जो समस्याएं हमारे प्रत्यक्ष नियंत्रण में होती है उन्हें हम अपनी आदतों तथा दिनचर्या में परिवर्तन लाकर दूर कर सकते हैं! जैसे कि ' सोने में ज्यादा समय गंवाने के कारण अगर किसी को पढ़ने के लिए पर्याप्त समय नहीं मिल पाता हो तो वह व्यक्ति सुबह जल्दी उठने की आदत डाल कर अपनी पढ़ाई पूरी कर सकता है!'
         
अप्रत्यक्ष नियंत्रण वाली समस्याओं का हल निकालने में ज्यादा समझदारी से काम लेना होता है जैसे कि " अगर किसी के बॉस का नजरिया नकारात्मक हो तो अच्छे व्यवहार एवं उत्कृष्ट कार्य के जरिए उसका दृष्टिकोण सकारात्मक बनाना मुमकिन है "! 

जो समस्याएं हमारे नियंत्रण में नहीं है उन्हें स्वीकार कर लेना ही बुद्धिमानी होती है तथा कोशिश यह होनी चाहिए कि हमारी सफलता में समस्याएं बाधक ना बने! इस प्रकार की समस्याओं के विषय में सोच-सोच कर परेशान होने से भी कोई फायदा नहीं है!
         
जीवन में कठिनाइयों से हमें बहुत कुछ सीखने को मिलता है! इस प्रकार की परिस्थितियां प्रायः जीवन में बड़े बदलाव लाने वाली होती है! दुनिया और खुद को देखने के प्रति हमारा नजरिया अलग हो जाता है! अधिकांश लोग ऐसे है जिन्हें जीवन में अनुकूल अवसरों की प्रतीक्षा होती है तथा ऐसे लोग भी हैं जो जीवन में कुछ बनने ने के लिए पूरी तरह दूसरों के सहारे पर निर्भर रहते हैं! लेकिन इस प्रकार के व्यक्तियों का पूरा समय इंतजार में ही कट जाता है!
       
अगर आप उपलब्धियां हासिल करने वाले लोगों के उदाहरणों का अध्ययन करें तो पाएंगे कि ये वे लोग हैं जिन्होंने अपनी जीवन की कमान खुद संभाली है तथा जो समस्याओं का समाधान करते हैं ना कि खुद समस्या बनते हैं! अपने सिद्धांतों पर अडिग रहते हुए वह सही समय पर उपयुक्त पहल करते हैं! उनकी यह प्रवृत्ति उन्हें हमेशा दूसरों से आगे रखती है!
           
         मनुष्य के रूप में हमें आत्म-मूल्यांकन  की क्षमता मिली है, जिसका इस्तेमाल करके हम अपनी कमियों को जान सकते हैं   इसके साथ ही साथ हम अपने सुधार के क्षेत्रों का पता लगा सकते हैं तथा यह भी जान सकते हैं कि कौन -सी प्रतिभा को विकसित करने की आवश्यकता है! 

अपने व्यक्तित्व निखारना, भविष्य को सवारना सब हमारे हाथों में ही है बशर्ते हम अपने लिए जिम्मेदार बने!


 ( BEST OF LUCK FOR THE NEW LIFE.)

                                  @@@

No comments:

Post a Comment

If You Have Any Doubts.