Breaking

Wednesday, 25 September 2019

गुस्सा स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है!

    

गुस्सा स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है!

 " जो व्यक्ति अकेला होने पर भी जिंदगी में आगे कदम बढ़ाते जाता है वह दूसरों से मिलो आगे निकल जाता है!"
             
    आज समय की मांग ऐसी है कि हर इंसान कार्यस्थल पर खुद को अच्छा प्रोफेशनल साबित करना चाहता है और इसके लिए वह जी- जान से मेहनत भी करता है लेकिन इसके लिए केवल मेहनत ही काफी नहीं है! जीवन में सफल होने के लिए अपनी भावनाओं की सही ढंग से अभिव्यक्ति और उन पर नियंत्रण बहुत जरूरी है! परिस्थिति चाहे जैसी भी हो अधिक इमोशनल होने की जरूरत नहीं है! गुस्सा एक मानसिक स्थिति है जिसका बहुत ही महत्वपूर्ण प्रभाव हमारे रोजाना की जिंदगी पर तथा संबंधों पर पड़ता है!
       
         गुस्सा हमारी सोच और व्यवहार को कई तरह से प्रभावित करता है! इसलिए बहुत जरूरी हो, तभी अपने गुस्से को व्यक्त करें! कई बार गुस्सा के बाद हमें खुद भी पछतावा होता है! गुस्सा हमारी सेहत तो खराब करता ही है, पूरे माहौल पर भी बुरा असर डालता है! कई बार ऐसा भी होता है कि गुस्से की वजह हमारे नियंत्रण में नहीं होती लेकिन हमारी भावनाओं पर काबू करना तो हमारे नियंत्रण में होता है!
        
    हमारे लिए ध्यान देने की बात यह है कि जब भी कोई ऐसी बात हो जिस पर हमें गुस्सा आ रहा हो तो उस स्थिति में हम अपने व्यवहार पर नियंत्रण कैसे रखें! हमें यह भी सोचना चाहिए कि कैसे उसे एक सीमा में रखें!  गुस्सा जब सीमा के बाहर चला जाता है तब वो खुद को और दूसरों को नुकसान पहुंचाता है! वह हमारे काम पर असर डालता है और हमारी ताकत को कम कर देता है! इसलिए जरूरी है कि हम गुस्से को अपने ऊपर हावी ना होने दें!
           
    गुस्सा तो सबको आता है लेकिन उस गुस्से को जाहिर करने का तरीका सबका अलग-अलग होता है, इतना ही नहीं, गुस्से को कंट्रोल करने का तरीका भी सबका अलग-अलग होता है! किसी भी तरह की मुसीबतें, चिंता, परेशानी, निराशा या हार, यह एक स्वाभाविक प्रक्रिया है इनमें प्रत्येक व्यक्ति को एक नहीं कई बार ऐसी स्थिति का सामना करना पड़ता है! 


जीवन की समस्याएं हम पर हावी ना हो इसके लिए जरूरी है कि आप गुस्सा रूपी अपने अंदर के दबाव को बाहर करें!


        
        अपनी भावनाओं को दमदार तरीके से व्यक्त कर देना अच्छा होता है लेकिन इसके लिए यह जरूरी होता है कि हमें यह पता हो कि हम क्या चाहते हैं और किसी को चोट पहुंचाए बगैर उसे कैसे पाया जा सकता है! अपना सम्मान बचाए रखना और बाकी लोगों का भी सम्मान करना चाहिए! गुस्से को काबू में करके किसी दूसरे दिशा में भी मोड़ा जा सकता है! वह तब होगा जब हम गुस्से को एक पल के लिए रोक  कर उसके बारे में सोचना बंद कर दें और किसी दूसरी पॉजिटिव चीज पर ध्यान केंद्रित करें! लेकिन इसमें यह हो सकता है कि हम भीतर से परेशान बने रहें!
     
खुद को रिलैक्स रखना गुस्से पर नियंत्रण के लिए सबसे अच्छा तरीकों में से एक है! कई लोग कहते हैं कि लंबी सांसे लेकर शांत होने से गुस्सा कम हो जाता है! सब लोग इसके लिए अपने-अपने तरीके ढूंढते हैं! 

कोई कहते हैं कि गुस्सा आए तो मुट्ठी बांधकर 10 तक गिनती गिनो, गुस्सा कम हो जाएगा! कोई गिनती गिनने की जगह शांत, शांत, शांत.....बोलने को भी प्राथमिकता देते हैं! कोई अपनी आंखें बंद करके कोई और चीजों को याद करके अपनी ध्यान को किसी और तरफ मोड़ देते हैं जिससे उनके गुस्सा को नियंत्रण करने में मदद मिलती है! लेकिन इतना तो जरूर है कि थोड़ा ध्यान और थोड़ा योगा, अच्छे दोस्त, काफी मददगार हो सकते हैं! जिन परिस्थितियों में आपको ज्यादा गुस्सा आता है या जब आप अति उत्साहित होकर बहुत ऊंचे स्वर में बोलने लगते हैं, तब अपने सूझबूझ से अपनी भावनाओं पर काबू रखने की कोशिश करें!


   गुस्से से निपटने के लिए हम या तो गुस्से को जाहिर कर दे या उसे दबा दें या फिर शांत हो जाएं! अपनी भावनाओं को दमदार तरीके से व्यक्त कर देना अच्छा होता है और सबसे बड़ी बात यह है कि खुश दिल रहेंगे, प्रसन्न रहेंगे, तो हमें गुस्सा ही नहीं आएगा और हम अपने आप को स्वस्थ रख पाएंगे!
" Health is a relationship between  you and your Body. "
☝️☝️☝️👨‍👩‍👦‍👦☝️☝️

No comments:

Post a Comment

If You Have Any Doubts.